7 चीज़े सर्दी में Immunity-boost के लिए

 

नवंबर का  महीना ख़त्म होने को है।

साथ ही दिसंबर में सर्दी और भी ज्यादा बढ़ने के

आसार है।

फिलहाल भारत के कई इलाको में बेमौसम

बरसात हो रही है।

 

यह भी पढ़े:- मेडिटेशन कैसे करें?

 

 

winter-1

 

 

इसके चलते इस सर्दी के मौसम

में बहुत ठंडी होने का अनुमान है।

ये बेमौसम बरसात के साथ कड़ाके की ठण्ड

आपको बीमार करने के लिए काफी है।

 

सर्दी के मौसम में स्वास्थ्य

 

इससे बचने के लिए अपने खान – पान में

गर्म चीज़ो का समावेश जरुरी है।

 

immunity कैसे बढ़ाएं

 

इस Article में आपके साथ

ऐसी 7 चीज़ों के बारे में

साझा करूँगा जो आपको

बीमारियों से बचाने में मददगार साबित

होंगे।

 

सर्दियों का मौसम

 

सर्दी के मौसम के कारण

बुजुर्गो में जोड़ो का दर्द  (Arthritis)

या ड्राई स्किन की प्रॉब्लम भी हो सकती है।

इसके साथ ही एक्जिमा या सोरयासिस

की तकलीफ भी हो सकती है।

 

एक जबरदस्त रोग प्रतिकारक शक्ति (Immunity)

ना सिर्फ इन सब रोगों से रक्षा करेगी बल्कि हमारे

स्वास्थ्य को बरक़रार रखेगी।

साथ ही हमारी त्वचा को भी मॉइस्ट रखेगी।

 

हमारी खान – पान की आदतें इस सर्दी के

मौसम में हमारी रक्षा करने में अहम भूमिका

निभाएगी।

इसके साथ ही हमें एक संतुलित आहार

का सेवन करना बहुत जरुरी है।

 

जिसके लिए हम रुके हुए थे

वह क्षण पास ही है।

तो आइये अब जिक्र करते हैं

उन चीज़ों का जो हमें इस सर्दी के

मौसम तंदुरुस्त रखने में हमारी

मदद करेगी।

 

7 चीज़े सर्दी में Immunity-boost के लिए:-

 

A] गुड़:- 

 

गुड़ जिसे शक्कर का बड़ा भाई भी कहते है।

इसकी तासीर गर्म होती है।

जिससे यह एक रामबाण है,

खासकर सर्दी के मौसम में।

इस में लौह की मात्रा भरपूर होने से

ये बहुत ताक़त प्रदान करता है।

गुड़ को तो भारतीय घरों में

पारम्परिक तौर पर उपयोग में

लिया ही जाता है।

इसके आयुर्वेद में भी बहुत से

लाभ चिन्हित किये गए है।

 

B] घी (Ghee) :- 

 

सदियों से किसी भी बीमारी का

इलाज़, भारतीय दादीमाओं का

अभेद घरेलु नुस्खा घी 🙂

 

घी में बहुत से गुणकारी तत्व होते है।

ये एक प्रकार बहुत ही जल्द तरीके से

पचने वाला वसा (fats) है।

जिसके चलते ये बहुत ज्यादा ऊर्जा शरीर को

देकर गर्म रख सकता है।

 

रोज एक छोटा चम्मच

घी खाने से त्वचा पर भी

चमक (glow) आ सकती है।

 

C] बाजरे का रोटला:- 

 

बाजरा एक प्रकार की फसल होती है।

राजस्थान, महाराष्ट्र, गुजरात में इसे

ज्यादा खाया जाता है।

यह एक पौष्टिक और हमारी गेहूं की रोटी का

विकल्प है। इसके साथ जवार की रोटी

जिसे महाराष्ट्र में भाकरी के नाम से जाना जाता है

खाते है।

बाजरे की रोटी आम गेहूं की रोटी से

बहुत भारी और मोटी होती है।

बाजरे और ज्वारे की तासीर भी गर्म होती है।

इसे खाते ही शरीर में गर्माहट पैदा होती है।

ये फाइबर और विटामिन से लबरेज होता है।

 

 

D] सरसों दा साग, मक्के दी रोटी :-

 

भारत के पंजाब में खाया जाता है।

सरसों या मस्टर्ड की तासीर भी गर्म होती है

साथ ही मक्के की भी।

इससे शरीर को सर्दी के मौसम में

गर्म एवं मजबूत रखने में कारगर है।

इसीलिए बारिश में भी भीग जाने पर

भुट्टा खाने का मजा आता है।

 

E] ड्राई- फ्रूट:-

 

ड्राई- फ्रूट एक पौष्टिक स्त्रोत है Omega-3 का

जो हमारे शरीर की रोगप्रतिकारक शक्ति को

बढ़ाता है।

 

बादाम और अख़रोट कोलेस्ट्रॉल को कम करके

हमारे हृदय (Heart) को मजबूत बनाता है।

हमारे Nervous-system को चलायमान रखता है।

 

रात को सोते समय

एक गिलास दूध में ड्राई – फ्रूट्स

डालकर उबाल के पीं ले।

उससे नींद भी अच्छी आएगी

साथ ही इम्युनिटी भी मजबूत होगी।

 

E] शकरकंद:-

 

सर्दी के मौसम में ही

बाज़ारो में मिलने वाले शकरकंद को

मीठे-आलू  भी कहा जाता है।

इसमें एक तरह की प्राकृतिक मिठास

होती है। बहुत पौष्टिक होता है।

ये पोटैशियम से भरपूर होता है।

इसमें beta-carotene नामक

कंपाउंड होता है जो

इम्युनिटी को स्ट्रांग करने में कारगर है।

साथ ही इसमें विटामिन – सी की मात्रा होती है।

 

F] हरी सब्जियाँ :-

 

सर्दी के मौसम में हरी सब्जियाँ बहुत

तादाद में मिलती है।

जैसे की मेथी, पालक आदि।

जो की बहुत पौष्टिक होती है।

इसीलिए हमारे घरों में

सर्दी के मौसम में

मेथी के पराठे

बहुत बनते है।

 

इसके अलावा ब्रोक्कोली जो

फूलगोभी का थोड़ा नकचढ़ा भाई है। 🙂

उसका सेवन भी सर्दियों के

दौरान रोगप्रतिकारक शक्ति

बढ़ाने में मदद करता है।

 

इस सर्दी के मौसम में अपना

और अपने परिवार का ख्याल

रखे, साथ ही अपने घर के

बुज़ुर्गो की ज्यादा देखभाल

करें।

धन्यवाद् …!!

Leave a Comment

error: Content is protected !!