Naturopathy क्या होती है?- हिंदी में

Naturopathy क्या होती है?- हिंदी में:-

 

naturopathy meaning

naturopathy treatment

naturopathy courses

 

 

 

 

 

 

Naturopathy मतलब की प्राकृतिक इलाज होता है।

इसमें Natural तरीकों से चिकित्सा की जाती है।

जैसे की हमारे शास्त्रों में,

पांच महाभूतों ( धुप, मिट्टी, पानी, हवा एवं अग्नि ) का उल्लेख किया गया है।

उसी की सहायता से Naturopathy प्रैक्टिशनर्स ट्रीटमेंट देते है।

इसमें शरीर के Self-healing प्रोसेस पर जोर दिया जाता है।

Naturopathy ये Allopathy ट्रीटमेंट से बहुत विपरीत है।

इसमें (Surgeries) शल्य चिकित्सा, एवं Heavy-dosage दवाइयों

का ना के बराबर उपयोग किया जाता है।

 

naturopathy and yogic science

 

Naturopathy की खोज एवं जनक:-

 

naturopathy india

 

Naturopathy शब्द को पहली बार 1895 में

John-Scheel ने उपयोग किया था।

उसके बाद Benedict-Lust नामक चिकित्सक

ने इसे पहली बार प्रयोग किया था।

तभी से Benedict-Lust को Naturopathy Treatments

का जनक (Father) माना गया है।

भारत में यह उपाधि राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी को दी गयी है ।

अब आप मुझसे पूछेंगे ऐसा क्यों?

तो इसका जवाब है की बापू ने 1946 में अपने आश्रम में

प्राकृतिक पद्धति से इलाज को बढ़ावा दिया था इसीलिए बापू को

Indian Naturopathy का जनक कहा गया है।

 

naturopathy history

naturopathy history in india

naturopathy and yoga

naturopathy methods

 

Naturopathy की उपचार पद्धति:-

 

Naturopathy में विभिन्न प्रकार की उपचार पद्धति है,

यही Naturopathy के विभिन्न प्रकारहै,

जैसे की ,

  • मिट्टी से की जाने वाली Mud-bath 
  • चुम्बक द्वारा Magnet-therapy 
  • रंगो की सहायता से Color-therapy
  • सुइयों के द्वारा Acupuncture
  • शरीर की नसों  द्वारा Acupressure
  • पानी एवं जल के द्वारा दी जाने वाली Hydrotherapy
  • Massage-therapy  
  • हवा के द्वारा Air-therapy 

 

आइये हम इनमें से कुछ पद्धतियों को,

संक्षिप्त में जानने का प्रयास करते है।

 

 

Acupuncture और  Acupressure:

 

 

massage-2

 

Acupuncture जैसा नाम वैसा काम,

इसमें जहा तकलीफ है उस जगह

पतली- पतली सुइयों से पंक्चर करके,

आपके दर्द का निवारण किया जाता है।

 

 

 

massage-1

 

 

Acupressure में जहां दर्द है,

वहां पर की नसों के points पर दबाव (pressure) देकर

दर्द को कम किया जाता है।

जैसा की उपर्युक्त चित्र में दिखाई दे रहा है।

 

acupuncture
acupuncture points
acupuncture meaning
acupuncture therapy
acupuncture needles
acupuncture benefits

 

( पुरे शरीर को पॉइंट्स के माध्यम से बांटा गया है। )

 

Magnet therapy  और  Color therapy:

 

Magnet therapy में चुम्बकीय ऊर्जा की सहायता से,

विभिन्न शारीरिक दर्दों का इलाज किया जाता है।

इसमें शरीर के विशिष्ट अंग पर,

उसीके size का चुम्बक लगाया जाता है

एवं इसकी मदद से slip-disk , कमर दर्द,

एवं अन्य बीमारियों का इलाज किया जाता है।

 

Color-therapy में रंगो की सहायता से विभिन्न,

शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य सम्बन्धी विकारो का उपचार किया जाता है।

इस therapy को Chromotherapy भी कहा जाता है।

इसमें विभिन्न Wavelength की Color-radiations को

आँख की Retina पर पहुंचाकर उपचार किया जाता है।

इस therapy को करने से मन और शरीर में संतुलन बना रहता है।

Naturopathy के फायदे:-

 

naturopathy benefits in hindi
naturopathy benefits and risks
naturopathy benefits and disadvantages
naturopathy benefits proven
naturopathy importance

 

Naturopathy के अनेकों फायदे है,

जैसे की

  • कोई (Side-effects) नहीं है।
  • Non-invasive टाइप ट्रीटमेंट है।
  • Natural-healing प्रक्रिया 
  • रोग-प्रतिकारक क्षमता को बढ़ाता है।
  •  Insomnia में फायदेमंद 
  • Self-awareness को बढ़ाना 
  • Positive-Mindset में वृद्धि 
  • Weight-loss में सहायक होती है।

 

Naturopathy practitioners कौन है?….

 

जैसे Allopathy की प्रैक्टिस करने के लिए

MBBS की degree आवश्यक होती है।

या जिस प्रकार Ayurveda की प्रैक्टिस के लिए

BAMS की degree जरुरी होती है।

 

उसी प्रकार से Naturopathy की प्रैक्टिस करने के लिए

या फिर प्राकृतिक चिकित्सक बनने के लिए

BNYS की डिग्री बेहद जरुरी होती है।

इसमें आपको Diploma का भी विकल्प मिलता है।

DNYS (Diploma in Naturopathy and Yogic Sciences) 

 

 

Naturopathy vs Ayurveda:-

 

(naturopathy vs ayurveda
naturopathy vs allopathy
naturopathy vs modern medicine
naturopathy vs functional medicine)

 

हालाँकि Naturopathy एवं आयुर्वेदा दोनों एक दूसरे की वैकल्पिक उपचार पद्धतियाँ है।

पर दोनों की practice एवं अध्ययन में काफी अंतर है।

जैसे की Naturopathy में प्राकृतिक पद्धतियों से उपचार किये जाते है,

वही आयुर्वेद में शल्य चिकित्सा का भी अधिकतम समावेश है।

Naturopathy ज़्यदातर Self-healing प्रक्रिया पर ध्यान केंद्रित करती है।

वही Ayurveda में बीमारियों को रोकने के उपाय किये जाते है,

surgeries , जड़ीबूटियों की मदद से।

ये भी माना जाता है की दोनों ही उपचार पद्धतियाँ अपने आप में बहुत भिन्न है,

पर दोनों ही इंसान को बीमारियों से बचने के उपायों में प्रयासरत है।

 

 

Summary  (सारांश)

 

Naturopathy का मतलब प्राकृतिक चिकित्सा पद्धति होता है।

इसमें शरीर की Self-healing प्रक्रिया पर विश्वास किया जाता है।

यह पद्धति Allopathy एवं Ayurveda से भिन्न है।

इसमें बहुत सी उपचार पद्धतियाँ (Forms) है।

इसके कोई भी गंभीर दुष्प्रभाव (Side-effects) नहीं है।

यह पद्धति शल्य चिकित्सा (Surgeries) को बढ़ावा नहीं देती,

मतलब यह की एक Non-invasive प्रक्रिया है।

 

 

 

ऐसी ही विभिन्न विषयों पर रोचक जानकारी हेतु हमारी इसी Website पर Visit करें

उम्मीद है की आपको यह Article अच्छा लगा होगा तो इस पर कमेंट अवश्य करें एवं

इस article को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें।

धन्यवाद्……..!

Leave a Comment

error: Content is protected !!